Friday, October 2, 2015

अच्छी हूँ


दर्द की पीड़ा से
आँसू छलकने ही
वाले थे !

तभी एक
फोन कॉल आया
कैसी हो ?

हँसते हुए मैंने
कह दिया.....

ठीक ही हूँ!

उसने कहा
ऐसे नहीं कहते
अच्छी हूं कहना !

सुनने वाले को भी
अच्छा लगता है !!

चलो
अब से
अपने दर्द को
अपने पास ही रखूंगी
किसी से कहूँगी नहीं !!

क्या पता किसी ने
थोड़े से सुकून के लिए
मुझे कॉल किया हो !!
- सीमा

1 comment:

  1. Start self publishing with leading digital publishing company and start selling more copies
    SELF PUBLISHING INDIA

    ReplyDelete